उत्तर केरल के एस्टर एमआईएमएस, कैलिकट में पहली बार 100 लीवर ट्रांसप्लांट सर्जरिया

4.6
380
उत्तर केरल के एस्टर एमआईएमएस, कैलिकट में पहली बार 100 लीवर ट्रांसप्लांट सर्जरिया

नई दिल्ली : उत्तर केरल के इतिहास में पहली बार, कैलिकट के एस्टर एमआईएमएस अस्पताल में 100 लीवर ट्रांसप्लांट सर्जरियां पूरी हो चुकी हैं। यह भारत में अंग प्रत्यारोपण (ऑर्गन ट्रांसप्लांट) सर्जरी के क्षेत्र में एक बड़ा मील का पत्थर है। किफायती दरों पर इस मुकाम को हासिल किया गया है जो इस गौरवशाली सफर का परिवर्धन करता है।

लिवर ट्रांसप्लांट सर्जरी के प्रमुख डॉ सजीश सहदेवन ने बताया एस्टर एमआईएमएस कैलिकट में ट्रांसप्लांट का सफलता दर एशिया के सर्वश्रेष्ठ दरों में से एक है। एस्टर एमआईएमएस की सफलता का श्रेय मुख्य रूप से इसकी अपेक्षाकृत निम्न सर्जिकल लागतों, अत्याधुनिक क्लिनिकल और सर्जिकल सुविधाओं, बेहतरीन सिस्टमों और नैदानिक मार्गों को जाता है, लेकिन सबसे बड़ा श्रेय यहाँ के लोगों को जाता है जो बेहद ईमानदारी और समर्पण-भाव के साथ इस कार्यक्रम को संचालित करते हैं, श्री फरहान यासीन, क्लस्टर सी.ई.ओ, एस्टर एमआईएमएस ने कहा।

हमने पिछले 2 महीनों में COVID से संबंधित सभी सावधानियों और प्रोटोकॉल का पालन करते हुए तीन मृतक डोनर से लीवर ट्रांसप्लांट सफलतापूर्वक पूरा किया है जो रोगी की देखभाल के प्रति हमारे अटूट समर्पण का प्रतिबिंब है। यह उन लोगों के लिए आशा की एक नई किरण भी देता है जो मृतक डोनर अंग की प्रतीक्षा कर रहे हैं।

यह भी उल्लेखनीय है कि, एस्टर एमआईएमएस - कैलिकट, आर्थिक समस्याओं से जूझते लोगों के लिए विशेष हितलाभ और छूट प्रदान करता है और साथ ही COVID 19 महामारी के कारण अलग-अलग तरह से चुनौतियों का सामना करने वाले लोगों को अपना ट्रांसप्लांट करवाने में भी हर संभव मदद करता है।

हम इस बात को दोहराते हैं कि एस्टर एमआईएमएस - कैलिकट जीवन के हर पड़ाव पर खड़े लोगों के लिए आशा की एक किरण बना रहा है और हमेशा बना रहेगा और हम विश्वास दिलाते हैं कि हमारा स्वर्णिम सफर और अधिक दृढ़ता और प्रतिबद्धता के साथ जारी रहेगा।